Uttarakhand Goverment Portal, India (External Website that opens in a new window) http://india.gov.in, the National Portal of India (External Website that opens in a new window)

Hit Counter 0000421405 Since: 06-11-2013

द्वितीय सत्र

प्रिंट

उत्तराखण्ड विधान सभा के 28 मई, 2012 से 8 जून, 2012 तक चले अधिवेशन के दौरान निष्पादित हुए कार्य का सारांश
उत्तराखण्ड की तृतीय विधान सभा का वर्ष 2012 का द्वितीय सत्र 28 मई, 2012 को प्रारम्भ हुआ तथा 8 जून, 2012 को अनिश्चित काल के लिए स्थगित हो गया। सत्र में सदन द्वारा वित्तीय वर्ष 2012-13 के आय-व्ययक एवं कुछ अन्य महत्वपूर्ण विधेयकों पर विचार एवं पारण आदि मुख्य कार्य निष्पादित किये गये। सत्र में कुल मिलाकर 10 उपवेशन हुए तथा सत्र के दौरान मा0 सदस्यों की औसत उपस्थिति 94.3ः रही।
सत्र काल मंे सदन द्वारा स्व0 श्री घनश्याम गिरि महन्त, पूर्व सदस्य, उत्तर प्रदेश विधान सभा, स्व0 श्री गोविन्द प्रसाद गैरोला, पूर्व सदस्य, उत्तर प्रदेश विधान परिषद् को श्रृद्धांजली अर्पित की गयी। मा0 अध्यक्ष, मा0 संसदीय कार्य मंत्री, भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस, बहुजन समाज पार्टी एवं उत्तराखण्ड क्रान्ति दल के संसदीय दलों के नेताओं तथा अन्य सदस्यों ने दिवंगत आत्माओं के प्रति शोक संवेदनाएं प्रकट की।
दिनांक 28 मई, 2012 को माननीय अध्यक्ष ने सूचित किया कि जनपद-ऊधमसिंह नगर-68 सितारगंज विधान सभा क्षेत्र से उत्तराखण्ड विधान सभा के लिए निर्वाचित सदस्य श्री किरन चन्द मण्डल ने दिनांक 23 मई, 2012 को अपराह्न में विधान सभा की सदस्यता से त्याग-पत्र दे दिया। उन्होंनें दिनांक 23 मई, 2012 अपराह्न से स्वीकार कर लिया है। अतः श्री किरन चन्द मण्डल का स्थान उत्तराखण्ड विधान सभा में दिनांक 23 मई, 2012 के अपराह्न से रिक्त हो गया है।
माननीय मुख्यमंत्री ने 31 मई, 2012 को वित्तीय वर्ष 2012-2013 का आय-व्ययक प्रस्तुत किया जिस पर दिनांक 31 मई, 01, 04, 05, 06, 07 व 08 जून, 2012 को सामान्य चर्चा हुई। चर्चा में 8 माननीय सदस्योें ने भाग लिया। सदन द्वारा विभिन्न विभागों की अनुदान मांगों पर 06, 07 तथा 08 जून, 2012 को विचार एवं पारण किया गया। 08 जून, 2012 को विनियोग विधेयक पुरःस्थापित हुआ और उस पर विचार एवं पारण हुआ।
सत्र में 27 सदस्यों से प्रश्नों की कुल 620 सूचनाएं प्राप्त हुईं जिसमें तारांकित एवं अतारांकित प्रश्न सम्मलित थे। इनमे से 118 को तारांकित, 405 को अतारांकित तथा 06 को अल्पसूचित प्रश्न के रूप में स्वीकार किया गया।
सत्र के दौरान कुल 296 प्रश्न पूछे गये तथा उत्तर दिये गये जिनमें से 77 तारांकित, 215 अतारांकित तथा 04 अल्पसूचित प्रश्न थे। सत्र के दौरान नियम 40 (2) के अन्तर्गत स्थगित 01 तारांकित प्रश्न का उत्तर भी दिए गया।
उत्तराखण्ड विधान सभा की प्रक्रिया तथा कार्य संचालन नियमावली के नियम 300 के अर्न्तगत ध्यानाकर्षण की 112 सूचनाएं प्राप्त हुई, जिसमें से 55 स्वीकृत हुई, कार्य स्थगन की 74 सूचनाएं प्राप्त हुई जिसमें से 33 को ग्राह्यता पर सुना गया। सुनने के पश्चात सभी अस्वीकृत हुई तथा 04 को ध्यानाकर्षण के लिए स्वीकार किया गया। नियम 53 के अर्न्तगत 84 सूचनाएं प्राप्त हुई जिसमंे से 07 वक्तव्य के लिए स्वीकृत हुई, 04 केवल वक्तव्य के लिए स्वीकृत हुई तथा 04 ध्यानाकर्षण के लिए स्वीकार हुईं। नियम 310 के अन्तर्गत नियमों को निलम्बित कर चर्चा कराए जाने सम्बन्धी सूचनाओं में से 09 को नियम 58 के अन्तर्गत ग्राहयता पर सुना गया। सुनने के पश्चात सभी अस्वीकार हुई।
29 मई, 2012 को प्रमुख सचिव, विधान सभा ने घोषणा की कि निम्नलिखित विधेयक, जिन्हें विधान सभा द्वारा पारित किया गया था पर महामहिम राज्यपाल की अनुमति प्राप्त हो गयी तथा वे उत्तराखण्ड के वर्ष 2012 के अधिनियम बन गए:-

क्र0सं0    नाम    दिनांक    वर्ष 2012 का
अधिनियम सं0


        सदन द्वारा पारण    महामहिम राज्यपाल की अनुमति प्राप्ति    
1    उत्तराखण्ड विनियोग (लेखानुदान) विधेयक, 2012     29.03.2012    29.03.2012    1


सत्रावधि में निम्न पत्र सदन के पटल पर रखे गये -
1ण्    उत्तराखण्ड लोक सेवकों के लिए वार्षिक स्थानांतरण (संशोधन) अध्यादेश, 2012
2ण्    उत्तराखण्ड विशेष क्षेत्र विकास प्राधिकरण (संशोधन) अध्यादेश, 2012
3ण्    उत्तराखण्ड सहकारी समिति (संशोधन) अध्यादेश, 2012
4ण्    ‘‘भारत का संविधान‘‘ के अनुच्छेद-323 (2) के अधीन उत्तराखण्ड लोक सेवा आयोग को दशम् वार्षिक प्रतिवेदन (01 अपै्रल, 2010 से 31 मार्च, 2011 तक)।
5ण्    ‘‘भारत का संविधान‘‘ के अनुच्छेद-243-झ (4) एवं अनुच्छेद 243-म (2) के अधीन तृतीय राज्य वित्त आयोग, उत्तराखण्ड का प्रतिवेदन (2011-2016) एवं स्पष्टीकारक ज्ञापन।
6ण्    स्थानीय निधि लेखा परीक्षा अधिनियम, 1984 की धारा 8(3) के अन्तर्गत स्थानीय निधि लेखा परीक्षा तथा सहकारी समितियां एवं पंचायतें, वित्तीय वर्ष, 2010-11 (भाग-1 एवं 2) का वार्षिक लेखा परीक्षा प्रतिवेदन।
7ण्    सूचना का अधिकार अधिनियम, 2005 की धारा-25 के अन्तर्गत उत्तराखण्ड सूचना आयोग का चतुर्थ वार्षिक प्रतिवेदन वर्ष 2008-2009 (ए0टी0आर0) सहित
8ण्    केन्द्रीय विद्युत अधिनियम, 2003 की धारा 104 (4) के अन्तर्गत उत्तराखण्ड विद्युत नियामक आयोग के वर्ष, 2010-2011 का वार्षिक लेखा तथा केन्द्रीय अधिनियम 2003 की धारा 105 (1) के अन्तर्गत उत्तराखण्ड विद्युत नियामक आयोग की वर्ष, 2010-2011 की वार्षिक रिपोर्ट।
9ण्    कम्पनी एक्ट, 1956 की धारा-619-ए (2) के अन्तर्गत उत्तराखण्ड जल विद्युत निगम लिमिटेड की वित्तीय वर्ष, 2001-2002, 2002-2003, 2003-2004, 2004-2005 एवं 2005-2006 की वार्षिक रिर्पाेट।
10ण्    कम्पनी एक्ट, 1956 की धारा-619 (2) के अन्तर्गत उत्तराखण्ड पावर कारपोरेशन लिमिटेड का पंचम् वार्षिक प्रतिवेदन (2005-2006), षष्ठम् वार्षिक प्रतिवेदन (2006-2007), सप्तम् वार्षिक प्रतिवेदन (2007-2008), अष्टम् वार्षिक प्रतिवेदन (2008-2009) तथा नवम् वार्षिक प्रतिवेदन (2009-2010)

सत्र के दौरान सभा द्वारा निम्नलिखित विधेयकों का पुरःस्थापन, विचार एवं पारण किया गया -    
1.    उत्तराखण्ड लेखा परीक्षा विधेयक, 2012
2.    उत्तराखण्ड आबकारी (संशोधन) विधेयक, 2012
3.    उत्तराखण्ड वन विकास निगम (प्रथम संशोधन) विधेयक, 2012
4.    उत्तराखण्ड सहकारी समिति (संशोधन) विधेयक, 2012
5.    उत्तराखण्ड लोक सेवा (शारीरिक रूप से विकलांग, स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों के आश्रित और भूतपूर्व सैनिकों के लिए आरक्षण)(संशोधन) विधेयक, 2012
6.    उत्तराखण्ड लोक सेवकों के लिए वार्षिक स्थानांतरण (निरसन) विधेयक, 2012
7.    उत्तराखण्ड विशेष क्षेत्र विकास प्राधिकरण (संशोधन) विधेयक, 2012
8.    उत्तराखण्ड विनियोग विधेयक, 2012
9.    उत्तराखण्ड मूल्य वर्धित कर (संशोधन) विधेयक, 2012
10.    उत्तराखण्ड जमींदारी विनाश एवं भूमि व्यवस्था (संशोधन) विधेयक, 2012

        दिनांक 6 जून, 2012 को सदन द्वारा उत्तराखण्ड के सपूत श्री डी0के0 जोशी, को नए नौसेना प्रमुख बनाए जाने पर बधाई प्रस्ताव पारित किया गया।
    महत्वपूर्ण कार्य के निष्पादन के पश्चात् दिनांक 08 जून, 2012 के उपवेशन की समाप्ति पर मा0 अध्यक्ष द्वारा सदन अनिश्चितकाल के लिए स्थगित किया गया। 30 जून, 2012 को महामहिम राज्यपाल द्वारा सत्रावसान की घोषणा कर दी गई।